Protozoa in Hindi, characters, classification, example

हेलो दोस्तों स्वागत है, आपका एक और नए आर्टिकल में दोस्तों अगर आप Phylum Protozoa in Hindi के बारे में अधिक से अधिक ;जानना चाहते है तो यह आर्टिकल आप ही के लिए है क्योकि इसमें Phylum Protozoa in Hindiके बारे में अच्छी तरह से स्टेप बाई स्टेप जानकारी दिया गया है तो चलिए शुरू करते है।

General Characters of Phylum Protozoa in Hindi –

  1. फाइलम प्रोटोजोआ में सूक्ष्म जंतुओ को रखा गया है और ये बहुत ही साधारण जीव होते है।
  2. ये एक कोशकीय जंतु होते है और इनके पास एक या एक से अधिक केन्द्रक (nuclei) होते है।
  3. इनका शरीर नग्न या pellicle या test या cyst के रूप में कंकाल द्वारा इनमे से किसी एक से संरक्षित हो सकता है।
  4. इनका शरीर एक कोशिका का बना होता है जो सभी आवश्यक कार्यो को करता है। इनमे प्रसव का कोई शारीरिक विभाजन नही है।
  5. ये जीव स्वंतंत्र जीवी, सहजीवी या परजीवी होते है स्वंतंत्र जीवी जलीय होते है और ये जीव स्वच्छ जल और सालटी या खारे जल में पाए जाते है। ये एकांत (solitary) या औपनिवेशिक (colonial) हो सकते है। ये परजीवी पौधों और जन्तुओ के शरीर के बाहर या अन्दर के तरफ होते है।
  6. इनका पोषण Holozoic (जैसे जानवर), Holophytic (जैसे पेड़ पौधे), Saprozoic (Subsisting on dead organic matter), Saprophytic (feeding on liquid food) या परिजीवी हो सकते है।
  7. इनका पाचन क्रिया अन्तः कोशिकीय होता है और खाद्य रिक्तिका अन्दर की तरफ पूरा होता है।
  8. इनमें चलने के लिए अंग या गतिशील अंग Pseudopodia या flagella या cilia हो सकता है या नहीं हो सकता है।
  9. इनका श्वसन और उत्सर्जन इनके सामान्य शरीर के सतह द्वारा होता है।
  10. इनमे अलैंगिक प्रजनन द्विविखंडन, बहु विखंडन और budding द्वारा होता है।
  11. इनमे लैंगिक प्रजनन युग्मक (gamete) के निर्माण द्वारा या वयस्कों के संयोजन द्वारा होता है।
  12. कुछ सूक्ष्म जीवों में, जीवन चक्र जटिल होता है और ये अपने वंशजों का प्रत्यावर्तन प्रदर्शित करते है।
  13. इनमे प्रतिकूल परिस्थितियों से निपटने और दौड़ने के प्रसार में मदद करने के लिए Encystment होता है।  
  14. 50 हजार से अधिक प्रजातियों के बारें में जानकारी प्राप्त की जा चुकी है।

अभी तक हमने Phylum Protozoa in Hindi के सामान्य विशेषताए के बारे में जाना है। अब हम इसके वर्गीकरण के बारे में जानेगे तो चलिए अब वर्गीकरण के बारे में जान लेते है।

protozoa in hindi

What is Protozoa meaning in Hindi?

प्रोटोजोआ को हिंदी में प्रोटोजोआ या एक कोशिकीय जीव या प्रजीवगण कहते है।  

Classification of phylum protozoa in Hindi

संघ प्रोटोजोआ (Phylum Protozoa in Hindi) को चार उपसंघ या subphyla में बाँटा गया है।

  1. Subphylum – Sarcomastigophora
  2. Subphylum – Sporozoa
  3. Subphylum – Cnidospora
  4. Subphylum – Ciliophora

सबसे पहले हम उपसंघ Sarcomastigophora के बारें में जान लेते है।

Subphylum I – SARCOMASTIGOPHORA
  1. संघ प्रोटोजोआ (Phylum protozoain Hindi) के इस उपसंघ में सूक्ष्म जन्तुओ के पास चलने के लिए अंग या गति करने के लिए अंग Pseudopodia या flagella या दोनों होते है।
  2. इनमे केन्द्रक एक ही प्रकार के एक या एक से अधिक होते है।
  3. इन जन्तुओ में अलैंगिक प्रजनन द्विविखंडन और बहु विखंडन द्वारा होता है।

Superclass (A) Mastigophora (flagellata)

संघ प्रोटोजोआ (Phylum protozoa in Hindi) के इस सुपर क्लास में किस प्रकार के जन्तुओ को रखा गया है। इसके बारे में हम जानेंगे।

  1. इनमे जंतु साधारण और प्राचीन होते है और इनके पास एक मजबूत झिल्ली या मेम्ब्रेन होती है।
  2. इनमे चलने के लिए अंग flagella होता है और इसी से ये जंतु गति करते है।
  3. इसमे जीव autotrophic या heterotrophic या दोनों प्रकार के पोषण करते है।

Class 1. Phytomastigophorea (Phytoflagellata)-

chlorophyll-bearing chromatophores present.

  1. इन जीवों का पोषण holophytic या phototrophic होता है।
  2. इनमे भोजन स्टार्च या paramylon के रूप में होता है।
  3. इनमे flagella एक या दो या अधिक होते है।

ORDER 1 – Chrysomonadida

संघ प्रोटोजोआ (Phylum protozoa in Hindi) के इस गण या order में किस टाइप के जीवों को रखा गया है। इनके बारे में अध्ध्यन करेंगे।

  1. अमीबा में आहारनाल नहीं होता है लेकिन stigma होता है।
  2. मुख्य रूप से Flagella एक होता है लेकिन कभी – कभी दो या तीन होते है।
  3. Chromatophores एक या दो होता है और यह पीला, या भूरा या पीलापन लिए हुए हरा होता है।
  4. इनमे स्टार्च नही होता है लेकिन leucosin और वसा उपस्थित हो सकते है।
  5. इनमे siliceous cyst या चर्बीदार पुटक होते है।
  6. ये जंतु समुद्री जल या स्वच्छ जल में पाए जाते है।  

उदाहरणchrysamoeba, chromulina इत्यादि

Order 2. Cryptomonadida

संघ प्रोटोजोआ (Phylum protozoa in Hindi) के इस आर्डर में किस प्रकार के जीवों को रखा गया है। इसके बारे में भी जान लेते है।

  1. Anterior gullet शरीर के मध्य भाग तक पहुचता है।
  2. Flagella दो होता है और असमान होता है।
  3. इनमे Chromatophores दो होते है और यह पीला, भूरा होता है या रंगहीन होता है।
  4. इनका reserve food या आरक्षित भोजन जो होता है वह स्टार्च के रूप में होता है।
  5. इनमे stigma उपस्थित होता है।
  6. ये जीव समुद्री जल या स्वच्छ जल में रहते है।

उदाहरण – Chilomonas, Cryptomonas etc.

ORDER 3. Euglenoida

संघ प्रोटोजोआ (Phylum protozoa in Hindi) के इस आर्डर या गण में किस प्रकार के जन्तुओ को रखा गया है। उनके बारे में जानेंगे।

  1. एक ग्रासनली या cytopharynx के साथ पिछला छोर एक मुख्य संग्रह के अन्दर जाता है।
  2. Flagella 1 या 2 होते है, और साथ में mastigonemes होते है।
  3. इनमे chromatophores बहुत होते है और यह हरे होते है।
  4. इनमे खाद्य पदार्थ paramylon या तेल होते है।
  5. इनमे stigma उपस्थित होता है।
  6. ये जीव ज्यादातर स्वच्छ जल में रहते है।

उदाहरण – Euglena, Peranema, Rhabdomanas.

ORDER 4. Volvocida (=Phytomonadida)

संघ प्रोटोजोआ (phylum protozoa in Hindi) के इस चौथे आर्डर में किस प्रकार के जन्तुओ को रखा गया है। इनके बारे में भी जान लेते है।

  1. इसमें जंतु छोटे, साथ में कठोर cellulose से ढके होते है और इनमे ग्रासनली नहीं होते है।
  2. इनमे flagella मुख्यरूप से दो होते है और कभी-कभी अधिक भी होते है।
  3. इनमे आरक्षित खाद्य पदार्थ स्टार्च या तेल होते है।
  4. इनमे stigma उपस्थित होता है।
  5. ये ज्यादातर स्वच्छ जल में रहते है और कुछ कालोनियों के रूप में रहते है।

उदाहरण – Chlamydomonas, Volvox.

ORDER 5. Chloromonadida

संघ प्रोटोजोआ (Phylum protozoa in Hindi) के इस पांचवे आर्डर में किस टाइप के जन्तुओ को रखा गया है। इनके बारे मे जानेंगे।  

  1. इनके शरीर में पृष्ठीय उदर चपटे रूप में होता है और इसके साथ में एक नाजुक पतली झिल्ली (Pellicle) भी होती है।
  2. इनमे ग्रासनली उपस्थित होता है।
  3. इनमे flagella दो होते है, कभी-कभी एक या एक से अधिक भी होते है।
  4. इनमे Chromatophores हरे और अनेक होते है कुछ रंगहीन भी होते है।
  5. इनमे आरक्षित खाद्य पदार्थ तेल होता है।
  6. इनमे stigma नहीं होता है।
  7. ये ज्यादातर स्वच्छ जल में रहते है।

Example – Coelomonas

ORDER 6. Dinoflagellida

संघ प्रोटोजोआ (phylum protozoa in Hindi) के इस छठे आर्डर में किस प्रकार के जीवों को रखा गया है। इनके बारे में भी अध्ध्यन कर लेते है।

  1. ये छोटे और planktonic, नग्न और अमीबीय या साथ में एक मोटा pellicle या theca होता है।
  2. इनमे 2 flagella पाए जाते है।
  3. इन जीवों में अनेक Chromatophores होते है और यह पीले से भूरा होता है।
  4. इनमे आरक्षित भोजन स्टार्च या तेल या दोनों होते है।
  5. इनमे stigma उपस्थित होता है और दो संकुचनशील रिक्तिकाएं भी होती है।
  6. ज्यादातर समुद्री जल में रहते है और कुछ परजीवी होते है।

उदाहरण – Noctiluca, Ceratium, Gymnodinium.

Class 2. Zoomastigophorea (=Zooflagellata)

संघ प्रोटोजोआ (Phylum Protozoa in Hindi) के इस क्लास या वर्ग में किस प्रकार के जन्तुओ को रखा गया है। इनके बारे में हम जान लेते है।

  1. ये जंतु क्लोरोफिल धारण करने वाले होते है लेकिन इनमे chromatophores नही होते है।
  2. इनका पोषण होलोजोइक और सप्रोज़ोइक होता है।
  3. ये परजीवी, सहजीवी या स्वतंत्र जीवी होते है।
  4. इनमे आरक्षित भोजन ग्लाइकोजन के रूप में होता है।
  5. इन जंतु में flagella एक से अधिक होते है।

ORDER 1. Rhizomastigida

  1. इस गण में जंतु छोटे और अमीबा के जैसे होते है।
  2. इसमें जन्तुओ के पास एक से लेकर चार flagella पाए जाते है।
  3. ये जंतु flagella या pseudopodia के द्वारा गति करते है या चलते है।
  4. मुख्य रूप से यह स्वच्छ जल में पाए जाते है।

उदाहरण Mastigamoeba, Dimorpha

ORDER 2. Kinetoplastida

  1. इस गण में जंतु कम या ज्यादा और छोटे अमीबा के जैसे होते है।
  2. इनमे flagella एक या दो पाए जाते है।
  3. इनमें पोषण होलोजोइक या सप्रोज़ोइक होता है।
  4. ये एकांतवासी या औपनिवेशिक जंतु होते है।
  5. ये जंतु परजीवी के रूप में खून में रहते है।

उदाहरण – Leishmania, Trypanosoma, Bodo.

ORDER 3. Choanoflagellida

  1. इस गण में स्वतंत्र जीवी जंतु रहते है।
  2. ये औपनिवेशिक होते है।
  3. एक flagellum के आधार के चारो ओर एक कालर होता है।
  4. इनका पोषण होलोजोइक टाइप का होता है।

उदहारणProterospongia.

ORDER 4. Diplomonadida

  1. यह जंतु छोटे होते है इसके साथ में एक नाजुक pellicle और एक cytostome होता है।
  2. इनके पास 3 से लेकर 8 flagella पाए जाते है यह एक लहरदार झिल्ली के बॉर्डर का निर्माण करता है।
  3. इनमे एक केन्द्रक होता है, कभी कभी अधिक केन्द्रक भी होते है।
  4. मुख्य रूप से ये आंत में रहने वाले परिजीवी होते है।

उदाहरण Giardia, Hexamita.

ORDER 5. Hypermastigida

  1. इस आर्डर में उच्च विशेषताओ के साथ अधिक flagella वाले जीवों को रखा गया है।
  2. इनका Kinetostomes या parabasal शरीर एक गोलाकार या अनुदैघर्य या घुमावदार पंक्ति में होता है।
  3. ये एक केन्द्रक या बहु केन्द्रक के जीव होते ।है
  4. इन जन्तुओ के पास मुख नहीं होता है ये pseudopodia के द्वारा भोजन करते है।  
  5. ये तिलचट्टे और दीमक के आंत में पाए जाने वाले परजीवी होते है।

Example Triychonympha, Lophomonas.

ORDER 6. Trichomanadida

  1. इन जन्तुओ में 4 से 6 flagella पाए जाते है।
  2. इनमे एक पीछे चलने के लिए भी flagella होता है।
  3. ये परिजीवी जननांग मार्ग में पाए जाते है।   

उदाहरणTrichomonas

Superclass (B). Opalinata

  1. इस सुपर क्लास में जीवों का शरीर flagella या Cilia से ढका होता है।
  2. केन्द्रक दो से अधिक और मोनोमोर्फिक होते है।
  3. इनका पोषण सप्रोज़ोइक प्रकार का होता है।
  4. इनमे प्रजनन द्विविखंडन या युग्मक (gametes) के द्वारा होता है।
  5. ये परिजीवी मेढक और भेंक (Toad) में पाए जाते है।

ExampleOpalina

Superclass (C) Sarcodina (=Rhizopoda)

  1. इनका शरीर बिना pellicle का होता है।
  2. ये Pseudopodia द्वारा चलते है।
  3. इनका पोषण होलोजोइक या सप्रोज़ोइक होता है।
  4. इनमे अलैंगिक प्रजनन द्विविखंडन द्वारा होता है।
  5. ये एकांतवासी और स्वतंत्र जीवी होते है, कुछ परिजीवी या औपनिवेशिक होते है।

Class 1. Actinopodea

  1. स्यूडोपोडिया (Pseudopodia), गोलाकार शरीर से निकलने वाले अक्षीय तंतु के रूप में axopodia होता है।

Subclass (1) Heliozoa

  • ये गोलाकार protozoans होते है।
  • Pseudopodia (axopodia) किरण फेकते (radiating) है।
  • इनका शरीर नग्न होता है और बाहरी भाग रिक्तिकृत (vacuolated) एक्टोप्लाज्म और आन्तरिक भाग ठोस एन्डोप्लाज्म में विभेदित होता है।
  • इनका पोषण होलोजोइक प्रकार का होता है।
  • अधिकतर जंतु स्वन्छ जल में रहते है।

ExampleActinophrys, Clathrulina Actinosphaerium.

Subclass (2) Radiolaria

  1. इनका छिद्रित केन्द्रीय कैप्सूल एक्टोप्लाज्म को एन्डोप्लाज्म से अलग करता है।
  2. इनमे संकुचनशील रिक्तिका (Contractile Vacuole) नहीं होता है।
  3. इनमे pseudopodia, axopodia या filopodia के रूप में होता है।
  4. इनका कंकाल सिलिका जैसे नुकीला होता है।
  5. ये समुद्री होते है।

Example Collozoum.

Subclass (3) Proteomyxidia

  1. इनमे pseudopodia, filopodia के रूप में होता है।
  2. ये समुद्री जल या स्वच्छ जल में रहते है।
  3. इनमे प्रजनन द्विविखंडन या बहु विखंडन द्वारा होता है।

Example Pseudospora

Subclass (4) Acantharia

  1. केन्द्रीय कैप्सूल गैर काईटिन और बिना छिद्र वाले होते है।
  2. इनका कंकाल Strontium sulphate का बना होता है।
  3. इनमे Pseudopodia, axopodia के रूप में होता है।

ExampleAcanthrometra

 Class 2. Rhizopodea

  1. इसमें स्यूडोपोडिया, लोबोपोडिया, फिलोपोडिया. या रेटिक्लोपोडिया के रूप में होता है और यह बिना अक्षीय तंतु का होता है।

Subclass (1) Lobosia

  1. इनमे Pseudopodia, Labopodia के रूप में होता है।

ORDER 1. Amoebia

  • इनका शरीर अमीबा के जैसे होता है और यह बिना कंकाल के होते है।
  • इनमे pseudopodia (लोबोपोडिया) छोटा होने के साथ साथ अंतिम छोर कुंठित भी होता है।
  • एक्टोप्लाज्म और एन्डोप्लाज्म अलग – अलग होते है।
  • अधिकतर स्वच्छ जल में रहते है और कुछ परिजीवी होते है।

Example Amoeba, Entamoeba  

ORDER 2. Arcellinida (=Testacida)

  1. इनका शरीर एक कक्षीय खोल में संलग्न होता है
  2. इस खोल के साथ एक सिंगल छेद होता है जिसके माध्यम से लोबोपोडिया बाहर निकलता है
  3. ये स्वतंत्र जीवी होते है और इन्हें स्वच्छ जल में पाया जाता है

Example – Arcella, Difflugia, Euglypha.

Subclass (2) Filosia

  1. इस उपवर्ग में स्यूडोपोडिया, फिलोपोडिया होता है यह पतला और लम्बा एवं इसमें शाखाये निकली होती है।
  2. इनका शरीर नग्न या साथ में एक खोल के साथ में एक छेद होता है।
  3. इसमें एक्टोप्लाज्म अलग नही होते है।
  4. ये समुद्री जल या स्वच्छ जल में रहते है।

Example Allogromia, Penardia.

Subclass (3) Granuloreticulosia

  1. इसमें स्यूडोपोडिया, reticulopodia के रूप में होता है।

ORDER Foraminiferida

  • इसमें जंतु बड़े आकार के होने के साथ एक या बहु कक्षीय खोल के होते है।
  • खोल के साथ में एक या अधिक छेद होते है जिसके माध्यम से reticulopodia निकलते है।
  • ये मुख्य रूप से समुद्री होते है।

Example Globigerina, Elphidium (=Polystomella)

Subclass (4) Mycetozoia

  1. इनका शरीर लम्बा, अमीबीय, मतलब अमीबा के जैसे होता है और बहु केन्द्रकीय होते है।
  2. अनेक स्यूडोपोडिया होते है और ये कुंठित होते है।
  3. Sporangia के रूप में बीजाणुओं के साथ में होते है।

ExampleSlime moulds.

Class 3. Piroplasmea

  1. ये छोटे परिजीवी होते है और ये कशेरुकियों के लाल रक्त कणिकाएं (RBCs) में पाए जाते है।
  2. ये बीजाणुओ के रूप में नहीं होते है।

Example Babesia

अब हम संघ प्रोटोजोआ (Phylum Protozoa in Hindi) के दूसरे उपसंघ स्पोरोजोआ (Subphylum Sporozoa) के बारे में पूरी तरह से जानेंगे।

Subphylum II. SPOROZOA
  1. इस उपसंघ में केवल अन्तः परिजीवी को रखा गया है।
  2. इनका शरीर मोटा होता है और इसके साथ-साथ इनका pellicle भी मोटा है। वयस्कों में चलने या गति करने के लिए अंग नही होते है।
  3. इनमे पोषण सप्रोज़ोइक होता है।
  4. इनमे अलैंगिक प्रजनन बहु विखंडन द्वारा होता है और लैंगिक प्रजनन युग्मक संलयन के बाद बीजाणु निर्माण के द्वारा होता है।
  5. इनके जीवन चक्र में लैंगिक और अलैंगिक दोनों चरण सम्मिलित है।

Class 1. Telosporea

  1. बीजाणु बिना ध्रुवीय खोल या तंतु के होते है।
  2. इसमें बीजाणुज कड़े और microgametes flagellated होते है।
  3. इसमें ट्रोफोजोइट्स के साथ  केवल एक केन्द्रक होता है।

Subclass (1) Gregarinia

  1. इसमें ट्रोफोजोइट्स लम्बे होते है और ये अकशेरुकी जन्तुओ के देहगुहा और आहारनाल में पाए जाते है।
  2. युग्मक syzygy दिखाते है।
  3. युग्मनज अचल होते है यानि की ये चल नहीं पाते है।
  4. बीजाणुज (Sporozoites) स्पोरोसिस्ट में पाया जाता है।
  5. नर और मादा युग्मक Merogamous होते है।
  6. ये अकशेरुकियों में पाए जाने वाले परिजीवी है।

Example – Monocystis, Gregarinia, Nematocystis.

Subclass (2) Coccidia

  1. Trophozoites छोटे और अन्तः कोशिकीय होते है।
  2. इसमें युग्मक द्विरूपी होते है।
  3. बीजाणुज sporocysts (oocysts) में होते है।  
  4. ये परिजीवी कशेरुकियों के आंत या आहारनली में पाए जाते है।

ExampleEimeria, Isospora Plasmodium.

Class 2. Toxoplasmea

  1. इस वर्ग के जीवों में बीजाणु नहीं बनता है।
  2. इनमे केवल अलैंगिक प्रजनन होता है।

Example Toxoplasmea

Class 3. Haplosporea

  1. इसमें बीजाणुओं के साथ बीजाणु कारक होते है।
  2. ये परिजीवी मछली और अकशेरुकियो में पाए जाते है।
  3. इनमे pseudopodia उपस्थित हो सकता है लेकिन flagella नही होता है।
  4. इनमे प्रजनन केवल schizogony (अलैंगिक) द्वारा होता है।

Example – Ichthyosporidium, Haplosporidium.

अब हम संघ प्रोटोजोआ (Phylum Protozoa in Hindi) के तीसरे उपसंघ के बारे में पूरी तरह से स्टेप बाई स्टेप अध्ध्यन करेंगे।

Subphylum III. CNIDOSPORA
  1. ट्रोफोज़ोइट्स में कई नाभिक होते हैं।
  2. इनमे बीजाणु का निर्माण जीवन भर होता है।
  3. बीजाणु ध्रुवीय खोल के साथ ध्रुवीय तंतु भी शामिल होते है।

Class 1. Myxosporidea

  1. इस वर्ग में बीजाणु कई केन्द्रक के रूप में विकसित होते है।
  2. बीजाणु के अन्दर दो या तीन वाल्व होते है।

ORDER 1. Myxosporida

  1. इनमे बीजाणु बड़े होते है और साथ में एक द्विवाल्व वाली झिल्ली होती है।
  2. पोलर कैप्सूल 1,2, या 4, होते है। प्रत्येक के साथ एक तंतु (फिलामेंट) होता है।
  3. Trophozoites अमीबीय होता है।

Example Myxidium

ORDER 2. Actinomyxida

  1. इसमें भी बीजाणु बड़े होते है और इसके साथ एक त्रिवाल्ब झिल्ली होती है।
  2. इनमे पोलर कैप्सूल 3 होते है और प्रत्येक के साथ एक तंतु (filament) होता है।

Example Triactinomyxon, Sphaeractinomyxon.

class 2. Microsporidea

  1. इसमें बीजाणु छोटे होने साथ में एक वाल्व मेम्ब्रेन के होते है।
  2. इनमे पोलर कैप्सूल होते है या नही होते है।

Example Nosema

Subphylum IV. CILIOPHORA
  1. इस उपवर्ग के जीवों का शरीर जटिल रूप से संगठित होता है।
  2. खाने के लिए cilia और जीवन चक्र के कुछ अवस्थाओ में यह चलने के लिए या गति करने वाले अंग के रूप में उपस्थित होता है।
  3. इसमें दो प्रकार के केन्द्रक उपस्थित होते है micronucleus और macronucleus होता है।
  4. इनमे द्वि विखंडन या budding द्वारा अलैंगिक प्रजनन होता है।
  5. और लैंगिक प्रजनन संयोग द्वारा होता है।

Class 1. Ciliata (Infusoria)

  1. ये protozoa के साथ में इनका एक निश्चित रूप और आकार होता है।
  2. इनका शरीर बाहर से एक कठोर pellicle द्वारा घिरा होता है।
  3. इनमें चलने के लिए अंग cilia होता है।
  4. इनमे मुख (cystostome) और ग्रशनी निश्चित रूप से उपस्थित होता है इनमे गुदा छिद्र (cytopyge) हमेशा होता है।
  5. इन जीवों में एक या अधिक संकुचनशील रिक्तिकाए पाए जाते है।
  6. इनके पास दो प्रकार के केन्द्रक बड़े macronucleus और छोटे micronucleus होते है।

Subclass (1) Holotrichia

  1. बॉडी cilia एक रूप में होता है।
  2. इनमे मुख cilia नही होता है।

ORDER 1. Gymnostomatida

  1. इनका शरीर बड़ा होता है।
  2. इनमे बक्कल सिलिया नही पाया जाता है।
  3. Cytostome बाहर की तरफ से खुला होता है।

Examples Coleps, Didinium, Nassula.

ORDER 2. Trichostomatida

  1. Cytostome, vestibule के तल पर होता है।
  2. Vestibule में cilia का सर्पिल पंक्तियाँ होती है और मुख के क्षेत्र में cilia नही होता है।

Example Colpoda, Balantidium.

ORDER 3. Chonotrichida

  1. इस गण के जीवों का शरीर घड़े के आकार का होता है।
  2. इनके शरीर में cilia नहीं होता है।
  3. Vestibular (प्रघाण) cilia के साथ शरीर का अंतिम स्वतंत्र छोर में कीप जैसा होता है।
  4. Crustaceans में बाह्य सहभोजी होती है।

Example – Lobochona, Spirochona.

ORDER 4. Apostomatida

  1. इस गण के जीवों का शरीर cilia के साथ सर्पिल रूप से व्यवस्थित होता है।
  2. Cytostome मध्य उदर में होता है।
  3. परिजीवी या सहभोजी का जीवन चक्र जटिल होता है। इनका जीवन दो होस्ट या पोषिता में पूरा होता है।

ExampleHyalophysa, Polyspira.

ORDER 5. Astomatida

  1. इस गण के जीवों में cytostome नही पाया जाता है।
  2. इनका शरीर ciliation और समरूप होता है।
  3. ये परिजीवी या सहभोजी केचुए के आहारनाल और सीलोम में होते है।

Example Anoplohyra, Hoplitophyra.

ORDER 6. Hymenostomatida

  1. इस गण के जीवों का शरीर छोटा होने के साथ-साथ इनके शरीर पर एक समान cilia होता है।
  2. झिल्ली कोशिकाओ के आराधनाल क्षेत्र और लहरदार झिल्ली के साथ मुख गुहा होता है।

Example – Copidium, paramecium, Tetrahymena.

Subclass (2) Peritrichia

  1. इस उपवर्ग में वयस्क जीव का शरीर बिना cilia का होता है।
  2. सिर का अंतिम छोर मुख cilia के साथ होता है।
  3. ये जीव बिना डंठल (sessile organisms) के होते है।

ORDER 1. Peritrichida

  1. इस गण में उपवर्ग peritrichia की विशेषताएं होती है।

Example Vorticella, Carchesium.

Subclass (3) Suctoria

  • इस उपवर्ग के जीवों का शरीर डंठलदार और बिना डंठलदार दोनों होता है।    
  • युवा में cilia पाए जाते है और वयस्क में tentacles पाए जाते है।

ORDER 1. Suctorida

  1. इस गण में उपवर्ग suctorida की विशेषताए पाई जाती है।

Example – Ephelota, Podophrya.

Subclass (4) Spirotricha

  • इस उपवर्ग के जीवों के शरीर में cilia कम होता है।
  • इन जीवों में मुख का cilia अच्छी तरह से चिन्हित होता है।

ORDER 1. Heterotrichida

  • इनका शरीर लॉरिका में संलग्न होता है।
  • इनके शरीर में मुख्य रूप से cilia नहीं होता है।
  • इनका शरीर नग्न होने साथ बॉडी cilia एक समान होता है।

Example – Bursaria, Stentor, Blepharisma.

ORDER 2. Hypotrichida

  1. इनका शरीर पृष्ठीय उदर के तरफ चपटा होता है।
  2. उदर के तरफ बॉडी सिलिया cirri का निर्माण करता है।

ExampleEuplotes, Kerona.

ORDER 3. Oligotrichida

  1. इनमें बॉडी सिलिया कम या अनुपस्थित होता है।
  2. केवल सामने के छोर पर मुख झिल्लीदार होता है।

Example – Strombidium, Halteria.   

Conclusion

दोस्तों हम लोगो ने इसमें Phylum Protozoa in Hindi, और इसके subphylum, superclass, class, order और इनके विशेषताओ के बारे में जाना है।

तो दोस्त मै आशा करता हूँ कि आपको phylum protozoa in Hindi के बारे में दी गई जानकारी पसंद आई होगी। अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आई है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे।

Thank you so much  

Leave a Comment

Translate »