mRNA क्या है? संरचना, विशेषताएं, संश्लेषण, जीवनकाल

दोस्तों आज के इस लेख में हम mRNA के बारे में जानेंगे जैसे mRNA क्या है, mRNA के कार्य, इसकी संरचना। ऐसे कई प्रश्नों के उत्तर हम इस आर्टिकल में जानेंगे तो चलिए बिना समय बर्बाद किये शुरू करते हैं।

mRNA क्या है? (What is Messenger RNA)

यह RNA कुल RNA का लगभग 2-5% होता है। यह DNA के संदेशो को जो कोड भाषा में होते है इन्हें ले करके कोशिका द्रव्य में आता है। जहाँ इन संदेशो के अनुसार प्रोटीनो का निर्माण होता है। यूकैरियोटिक कोशिका में (mRNA) के 5’ सिरे पर 7 mg cap तथा 3’ सिरे पर Polly A Tail पाए जाने के कारण इन कोशिका में (m RNA) का स्थायित्व बढ़ जाता है।

संरचना (Structure)

एमआरएनए या केन्द्रिकीय आरएनए को संरचनात्मक जीन के आरएनए के पूरक स्ट्रैंड के रूप में संश्लेषित किया जाता है। यह प्रोटीन के संश्लेषण के लिए क्रोमोसोमल डीएनए से साइटोप्लाज्म तक आनुवंशिक जानकारी पहुंचाता है। इस कारण से, इसे 1961 में जैकब और मोनोड द्वारा मैसेंजर आरएनए (mRNA) नाम दिया गया था। यह कोशिका में मौजूद कुल आरएनए का लगभग 2-5% होता है। इसकी निम्नलिखित विशेषताएं हैं।

mRNA क्या है
mRNA क्या है?

mRNA के विशेषताएं (Characterstics of mRNA)

  1. यह डीएनए के दो स्ट्रैंड में से एक के पूरक स्ट्रैंड के रूप में बनता है।
  2. इसलिए इसमें क्षार व्यवस्था का वही क्रम होता है जो डीएनए के उस हिस्से में पाया जाता है जहां से इसे कॉपी किया जाता है, और इसलिए इसमें वही जानकारी होती है जो डीएनए के उस हिस्से में कोडित होती है।
  3. इसके अलावा, यह केन्द्रक से कोशिका द्रव्य में फैल जाता है, जहां यह एक निश्चित संख्या में राइबोसोम पर जमा हो जाता है।
  4. यहां, mRNA प्रोटीन संश्लेषण के लिए टेम्पलेट के रूप में कार्य करता है।
  5. इसका जीवनकाल कुछ ही ट्रांसलेशन के बाद समाप्त हो जाता है।
  6. इसका टर्नओवर अधिक है।
जरूर पढ़ें -  ड्रग्स क्या है/Drugs kya hota hai, प्रकार, उदाहरण, रोकथाम & नियंत्रण

एमआरएनए की विषमता (Heterogeneity of mRNA)

mRNA के अणु विषमरूप होते हैं क्योंकि ये अलग-अलग आकार में होते हैं और इनका आणविक भार भी अलग-अलग होता है। विविधता दो मुख्य कारकों पर निर्भर करती है।

  1. सिस्ट्रोन का आकार और संख्या (The size and number of cistrons).
  2. प्रोटीन अणुओं का आकार (The size of the protein molecule)

सिस्ट्रोन की संख्या की उपस्थिति के अनुसार दो प्रकार के mRNA को पहचाना गया है।

  1. Monocistronic mRNA – एक मोनोसिस्ट्रोनिक mRNA अणु में एक सिस्ट्रोन के कोडन होते हैं जो प्रोटीन के एक पूर्ण अणु के लिए कोड करते हैं।
  2. Polycistronic mRNA – पॉलीसिस्ट्रोनिक mRNA अणु में एक से अधिक सिस्ट्रॉन के कोडन होते हैं जो एक साथ पास-पास स्थित हो सकते हैं। इस प्रकार का mRNA एक से अधिक पॉलीपेप्टाइड श्रृंखलाओं को संश्लेषित करता है, जिससे एकल प्रोटीन अणु बनता है। उदाहरण के लिए, एमआरएनए अणु जो 10 विशिष्ट एंजाइमों के संश्लेषण के लिए हिस्टिडीन कोड के मेटाबोलिज्म को नियंत्रित करता है।

एमआरएनए का जैव संश्लेषण (Biosynthesis of mRNA)

mRNA का संश्लेषण दो डीएनए स्ट्रैंड में से एक का उपयोग करके पूरा किया जाता है। इसे पांचवें छोर से तीसरे छोर (5’-3’) की ओर किया जाता है। आरएनए पोलीमरेज़ संरचनात्मक जीन या डीएनए सिस्ट्रॉन के आरंभकर्ता स्थल या प्रवर्तक सिरे से जुड़ा होता है जो आरएनए संश्लेषण को उत्प्रेरित करता है। डीएनए से mRNA के संश्लेषण की घटना को transcription (प्रतिलिपि) के रूप में जाना जाता है।

यूकेरियोट्स में, mRNA को विविध केन्द्रिकीय आरएनए (Hn-RNA) के रूप में संश्लेषित किया जाता है। ये अणु mRNA अणुओं से बहुत बड़े होते हैं। पॉलीएडेनिलिक एसिड (poly-A) के लगभग 200 न्यूक्लियोटाइड का एक अनुक्रम Hn-RNA के 3′ सिरे पर जोड़ा जाता है। तुरंत, Hn-RNA का 5′ सिरा विघटित होने लगता है और पॉली A (+) mRNA बनाता है। ये पॉली-ए (+) एमआरएनए अणु कोशिका द्रव्य में फैल जाते हैं।

जरूर पढ़ें -  उपकला ऊतक Epithelial Tissue in Hindi, प्रकार, कार्य, लक्षण,

mRNA का जीवन काल (Life span of mRNA)

प्रोकैरियोन में mRNA का जीवनकाल बहुत छोटा होता है। बैक्टीरिया में यह लगभग 2 मिनट का होता है। लेकिन यूकेरियोंस में mRNA मेटाबोलिज्म की दृष्टि से अधिक स्थिर है और कई घंटों और यहां तक कि कई दिनों तक कार्य कर सकता है।

निष्कर्ष –

दोस्तों आशा करता हूँ कि mRNA क्या है के बारे में दी गयी जानकारी आपके लिए हेल्पफुल रही होगी और यदि आपको यह लेख पसंद आयी हो तो इसे शेयर कीजिये और कमेंट कीजिये।

धन्यवाद

Leave a Comment

error: Content is protected !!