द्रव्य क्या है? What is matter in Hindi very easy भाषा में-2021

हेलो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में द्रव्य क्या है?(what is matter in Hindi?)

Advertisement
इसके बारे में अच्छी तरह से जानेंगे तो देर न करते हुए चलिए शुरू करते है।

द्रव्य क्या है? What is matter in hindi?

द्रव्य (Matter) –

द्रव्य अथवा पदार्थ वह वस्तु है जिसमे द्रव्यमान तथा आयतन होता है, द्रव्य कहलाता है जिसे हम देखते है। और अनुभव करते है।

द्रव्य के चार मूल तत्व होते है।

Advertisement

अग्नि, वायु, जल, पृथ्वी है।

जैसे – नम हरी लकड़ी को जलने पर धुँआ (वायु) + जलवाष्प (जल) + ज्वाला (अग्नि) + अवशेष राख (पृथ्वी) में परिवर्तित हो जाता है।

अब हम द्रव्य की अवस्था के बारे में जानेगे।

द्रव्य की अवस्थाये (State of matter) –

द्रव्य की मुख्यतः पांच अवस्थाये होती है।

Advertisement
  1. ठोस अवस्था (Solid state)
  2. द्रव अवस्था (Liquid state)
  3. गैसीय अवस्था (Gaseous state)
  4. प्लाज्मा अवस्था (Plasma state)
  5. बोस आइन्स्टीन कंडेनसेट (Bose Einstein Condensate state)

ठोस अवस्था (Solid state) –

वे पदार्थ जिनके आकार तथा आयतन दोनों निश्चित होते है, तो पदार्थ की इस अवस्था को ठोस अवस्था कहा जाता है।

Example – लकड़ी, लोहा, बर्फ, चाँदी, सोना, काँच इत्यादि

द्रव अवस्था (Liquid state) –

वे भौतिक अवस्थाये जिनके आयतन तो निश्चित होते है परन्तु आकार निश्चित नहीं होते है। तो ऐसी भौतिक अवस्था को द्रव अवस्था कहा जाता है।

Example – जल, तेल, इत्यादि

गैसीय अवस्था (Gaseous state) –

वे भौतिक अवस्थाये जिनके आयतन तथा आकार दोनों अनिश्चित होते है। परन्तु ये जिस बर्तन में रखे जाते है। उसी का आकार ग्रहण कर लेते है तो ऐसी ही भौतिक अवस्था को गैसीय अवस्था कहते है।

Advertisement

Example – वायु, धुँआ, वाष्प इत्यादि

प्लाज्मा अवस्था (Plasma state) –

प्लाज्मा अवस्था अति उच्च ताप पर संभव होती है, द्रव्य की इस अवस्था में द्रव्य मुक्त अति ऊर्जावान तथा आवेशो का संग्रह होता है इसमें ऋणावेशित (e-) इलेक्ट्रान होते है तथा धनावेशित आयन होते है।

सूर्य और तारो पर अति उच्च ताप के कारण प्लाज्मा अवस्था पाई जाती है। जैसे – फ्लोरोसेन्ट ट्यूब तथा नियान बल्ब।

Advertisement

बोस आइन्स्टीन कंडेनसेट (Bose Einstein Condensate state) –

सन 2001 में अमेरिका के बैज्ञानिक एरिक0 ए0 कार्नेल, उल्फगेंग केटरले तथा कार्ल0 ई0 वेमैन बैज्ञानिको को भौतिक नोबेल पुरस्कार मिला सामान्य वायु के घनत्व के एक लाखवे भाग जितने कम घनत्व वाली गैस को बहुत ही कम ताप पर ठंडा करने पर यह अवस्था प्राप्त होती है।

कुछ ऐसे भी द्रव्य है, जो ठोस, द्रव तथा गैस तीनों अवस्थाओ में मिलते है। जैसे जल ठोस अवस्था में बर्फ के रूप में, द्रव अवस्था में जल के रूप में तथा गैस अवस्था में भाप के रूप में मिलता है।

ठोस, द्रव और गैस अवस्थाओ में अंतर क्या अंतर है? (Difference between Solid, Liquid, and Gas States)

गुणठोसद्रवगैस
आकारइसका आकार निश्चित होता है।इसका आकार अनिश्चित होता है। इसे जिस बर्तन में रखा जाता है। उसी का आकार ले लेता है।इसका न तो आकार निश्चित होता है, और न ही आयतन गैस को जिस पात्र में रखा जाता है। उसी का आकार और आयतन ले लेती है।
आयतन इसका आयतन निश्चित होता है।इसका भी आयतन निश्चित होता है।इसका आयतन निश्चित नहीं होता है। इसे जिस पात्र या बर्तन में रखा जाता है। उसी का आकार ले लेता है।
रिक्त स्थान अणुओं के बीच रिक्त स्थान बहुत कम होता है।ठोस के अपेक्षा इसके अणुओं के बीच रिक्त स्थान कुछ अधिक होता है।इसमें अधिकांश रिक्त स्थान होता है।
घनत्वइसका घनत्व अधिक होता है।इसका घनत्व ठोस से कम होता है।इसका घनत्व बहुत कम होता है।
बहने का गुण ये नही बहते है।यह बहता है।यह भी बहती है।
ऊष्मा का प्रभाव यह गर्म करने पर फैलता है।यह गर्म करने पर (अधिक ताप पर) उबलता है।यह गर्म करने पर बहुत तेजी से फैलती है।
तल इसका तल समतल होना आवश्यक नहीं है।स्थिर द्रव का तल सदैव समतल होता है।इसका कोई भी तल नही होता है।
दाब का प्रभाव इसे बहुत ही कम दबाया जा सकता है।इसे ठोस से अधिक दबाया जा सकता है।गैस को बहुत अधिक दबाया जा सकता है।
गलनांक एवं क्वथनांकइसका निश्चित गलनांक होता है।इसका निश्चित क्वथनांक होता है।इसका निश्चित क्रांतिक ताप होता है।
उदाहरणबर्फ, मोम, गंधक, लोहा, तथा अन्य धातुएं (पारा को छोड़कर) लकड़ी, कागज, पत्थर आदि।जल, दूध, तेल, शहद, पारा आदि।ऑक्सीजन, वायु, नाइट्रोजन, हाइड्रोजन एवं अन्य गैसे।
मिश्रण किसे कहते है? (What is Mixture in hindi) –

जब दो या दो से अधिक शुद्ध द्रव्यों को किसी भी अनुपात में मिलाने पर जो पदार्थ बनता है, उसे ही मिश्रण कहा जाता है।

Advertisement

मिश्रण के प्रत्येक भाग का संघटन तथा गुणधर्म भिन्न-2 होता है।

जैसे – लोहे का बुरादा, रेत तथा वायु इत्यादि।

यौगिक किसे कहते है? (What is Compound in hindi) –

जब दो या दो से अधिक तत्वों की द्रव्यानुसार एक निश्चित अनुपात में मिलाने पर जो पदार्थ बनता है, उसे ही यौगिक कहते है।

यौगिक के प्रत्येक भाग का संघटन निश्चित होता है परन्तु गुणधर्म भिन्न होता है।

जैसे –जल (H2O), कार्बनडाईऑक्साइड (CO2), अमोनिया (NH3), कैल्शियम क्लोराइड (CaCl2) आदि।

Advertisement
मिश्रण तथा यौगिक में क्या अंतर है? (What is difference between Mixture and Compound?)
मिश्रणयौगिक
मिश्रण दो या दो से अधिक शुद्ध द्रव्यों को किसी भी अनुपात में मिलाने से बनता है।यौगिक दो या दो से अधिक तत्वों को द्रव्यमानानुसार एक निश्चित अनुपात में मिलाने से बनता है।
इसमे अवयवी द्रव्यों के गुणधर्म विधमान रहते है।इसके गुणधर्म तत्वों के गुणधर्म से भिन्न होते है।
इसके अवयवो को भौतिक विधियों द्वारा अलग किया जा सकता हैइसके अवयवो को भौतिक विधियों द्वारा अलग नही किया जा सकता है।
इसके बनने में कोई रासायनिक परिवर्तन नही होता हैइसके बनने में रासायनिक परिवर्तन होता है।
इसको बनाने में न तो ऊर्जा की आवश्यकता होती है और न ही उसकी उत्पत्ति होती है।इसको बनाने में या तो ऊर्जा की आवश्यकता होती है अथवा उसकी उत्पत्ति होती है।  
यह प्रायः विषमांग होता है। (कुछ को छोड़कर)यह समांग होता है।
इसके भौतिक स्थिरांक (गलनांक, क्वथनांक आदि) निश्चित नहीं होते है।इसके भौतिक स्थिरांक निश्चित होते है।

दोस्तों आशा करता हूँ कि आपको द्रव्य क्या है? (What is matter in Hindi) इसके बारे में दी गई जानकारी पसंद आई होगी। दोस्त अगर यह जानकारी आपको पसंद आई है, तो प्लीज इसे अधिक से अधिक शेयर कीजिये। जिससे इसका फायदा आपके दोस्त को भी मिल सके।

इन्हें भी पढ़े?

परमाणु किसे कहते है?

मोल किसे कहते है?

Advertisement

संकरण किसे कहते है?

धन्यवाद  

Advertisement

Leave a Comment