RNA क्या है? परिभाषा, प्रकार, अंतर, संघटन

नमस्कार दोस्तों, दोस्तों अगर आप जानना चाहते है कि RNA क्या है? (What is RNA in Hindi?) तो आप बिलकुल सही पोस्ट पर आये है। आज हम लोग इस आर्टिकल में RNA के बारे में स्टेप बाई स्टेप अध्ययन करेंगे तो चलिए समय न बर्बाद करते हुए शुरू करते है।

RNA क्या है? (What is RNA in Hindi?)

RNA मुख्य रूप से कोशिकाद्रव्य और न्यूक्लियोलस में पाया जाता है। यह कोशिका द्रव्य के अन्दर स्वतंत्र रूप से राइबोसोम में होता है। RNA को माइटोकांड्रिया, क्लोरोप्लास्ट में पता लगाया गया और यह यूकैरियोटिक गुणसूत्र के साथ संयुक्त होता है। कुछ पौधे विषाणुओं में RNA आनुवंशिक पदार्थ का काम करता है।

Full Form of RNA in Hindi –

RNA का पूरा नाम Ribonucleic Acid होता है। इसे हिंदी में राइबोन्यूक्लिक अम्ल कहते है।

RNA in hindi
Image credit – Wikimedia commons

RNA के प्रकार (Types of RNA in Hindi) –

आर एन ए अपनी स्थिति के अनुसार निम्नलिखित दो प्रकार के होते है।

  1. Viral RNA –

यह SS (Single Strands) या DS (Double Strands) होते है। ये विषाणुओं में आनुवंशिक रूप में कार्य करते है।

2. Cellular RNA –

कोशकीय RNA हमेशा SS (Single Strands) होता है यह कभी भी आनुवंशिक पदार्थ नही होता है। कोशकीय RNA निम्न तीन प्रकार के होते है।

  1. Ribosomal RNA (rRNA)
  2. Transfer RNA (t RNA)
  3. Messenger RNA (m RNA)
जरूर पढ़ें -  संयोजी ऊतक किसे कहते है | परिभाषा, प्रकार, कार्य, Complete Notes
Ribosomal RNA (r RNA) –

ये कोशिका में पाए जाने वाले RNA का कुल लगभग 80% होते है। ये राइबोसोम में पाए जाते है हालांकि इनके वास्तविक कार्य के बारे में ज्यादा जानकारी नही है फिर भी ऐसा माना जाता है कि ये प्रोटीन संश्लेषण के दौरान राइबोसोम के सांद्रण में भाग लेते है।

Transfer RNA (t RNA) –

ये RNAf कोशिका में पाए जाने वाले कुल RNA का 15 – 18% होते है। RNA कोशिका द्रव्य में घुलित अवस्था में पाए जाने के कारण इन्हें Soluble RNA (S RNA) भी कहा जाता है। प्रोटीन संश्लेषण के दौरान यह RNA अमीनो अम्ल को राइबोसोम तक ट्रान्सफर करने का काम करता है।

Messenger RNA (m RNA) –

यह RNA कुल RNA का लगभग 2-5% होता है। यह DNA के संदेशो को जो कोड भाषा में होते है इन्हें ले करके कोशिका द्रव्य में आता है। जहाँ इन संदेशो के अनुसार प्रोटीनो का निर्माण होता है। यूकैरियोटिक कोशिका में (m RNA) के 5’ सिरे पर 7 mg cap तथा 3’ सिरे पर Polly A Tail पाए जाने के कारण इन कोशिका में (m RNA) का स्थायित्व बढ़ जाता है।

Differences Between DNA And RNA in Hindi –
 Deoxyribonucleic AcidRibonucleic Acid
1.DNA न्यूक्लियस के गुणसूत्र में होता है और यह मुख्य रूप से केवल न्यूक्लियस में होता है।RNA मुख्यरूप से कोशिका द्रव्य में होता है। यदपि यह भी न्यूक्लियोलस में होता है और कुछ हद तक न्यूक्लियोप्लाज्म में भी होता है और यह गुणसूत्रों के साथ संयुक्त होता है।  
2.DNA के एक हेलिकल के पास दोहरी स्ट्रैंडेड की संरचना होती है और यह दोनों स्ट्रैंड एक दूसरे के विपरीत दिशा में सर्पिलाकार में कुंडलित होते है।RNA के अणु सिंगल स्ट्रैंडेड होते है और यह स्ट्रैंड कुछ केसेस में (RNA में) अपने आप को कुंडलित कर लेते है और यह हाइड्रोजन बंधो द्वारा जुड़े भी हो सकते है।  
3.DNA में शुगर के अणु डीऑक्सीराइबोस होते है।RNA में शुगर के अणु राइबोस होते है।
4.DNA में चार नाइट्रोजनी क्षारक होते है। एडिनीन, ग्वानीन, साइटोसिन और थायमीन होते है।RNA में भी चार नाइट्रोजनी क्षारक होते है। एडिनीन, ग्वानीन, साइटोसिन और यूरेसिल होते है। इसमें सिर्फ थायमीन के जगह पर यूरेसिल आ जाता है।
5.DNA में प्यूरिन और पिरीमिडीन का अनुपात समान होता है।  इसमें यह जरूरी नहीं है कि प्यूरिन और पिरीमिडीन अनुपात समान हो।
6.DNA आनुवंशिक पदार्थ है और यह विभिन्न कोशिकाओ के गतिविधियों और जीवन के प्रक्रिया के सूचनाओ को कोड के रूप में अपने अणुओं में स्टोर करके रखता है।RNA प्रोटीन संश्लेषण में भाग लेता है।
7.DNA में क्षार का संघटन A/T = G/C = 1 है।RNA में ऐसा कुछ नहीं होता है।

संघटन (Composition)

  1. आरएनए एक एकल-धागे रूपी संरचना है जिसमें एक अशाखित पॉलीन्यूक्लियोटाइड श्रृंखला होती है जो अपने आप में पीछे से मुड़ी होती है, जिससे हेलिक्स बनते हैं। जबकि डीएनए एक डबल-स्ट्रैंडेड संरचना है और इसकी दो पॉलीन्यूक्लियोटाइड श्रृंखलाएं एक मुख्य अक्ष के चारों ओर सर्पिल रूप में मुड़ी होती हैं।
  2. आरएनए, डीएनए की तरह, एक रैखिक अनुक्रम में व्यवस्थित कई सैकड़ों या हजारों न्यूक्लियोटाइड से बनता है और 3′-5‘ फॉस्फोडाइस्टर बंध द्वारा एक साथ जुड़ा होता है।
  3. आरएनए के न्यूक्लियोटाइड में पाई जाने वाली शर्करा राइबोज है, जबकि डीएनए में यह डीऑक्सीराइबोज है। आरएनए के न्यूक्लियोटाइड को राइबोन्यूक्लियोटाइड्स कहते हैं।
  4. आरएनए में पाए जाने वाले चार नाइट्रोजनस क्षार एडेनिन, साइटोसिन, ग्वानिन और यूरैसिल हैं, जबकि डीएनए में एडेनिन, साइटोसिन, ग्वानिन और थाइमिन हैं। इसलिए, आरएनए में, डीएनए के थाइमिन को यूरैसिल द्वारा प्रतिस्थापित किया जाता है।
  5. आरएनए की आधार संरचना AU = GC = 1 से सहमत नहीं है क्योंकि यह डीएनए में पाया जाता है।
  6. आरएनए के एकल स्ट्रैंड के न्यूक्लियोटाइड्स के बीच अंतराआण्विक जुड़ाव (Intramolecular pairing) आरएनए को स्थिरता प्रदान करता है। डीएनए में, डीएनए के दो स्ट्रैंड के न्यूक्लियोटाइड हाइड्रोजन बांड के माध्यम से जुड़ते हैं।
  7. डीएनए वंशानुगत सामग्री है, जबकि आरएनए विभिन्न प्रकार का होता है, जो प्रोटीन संश्लेषण के दौरान विभिन्न कार्य करता है। अधिकांश पादप विषाणुओं और कुछ जंतु विषाणुओं में, आरएनए आनुवंशिक सामग्री के रूप में कार्य करता है।
जरूर पढ़ें -  जीव विज्ञान किसे कहते हैं | परिभाषा, शाखाएं, जनक, Biology in Hindi

Conclusion –

दोस्तों हम लोगो ने RNA क्या है?, RNA कितने प्रकार के होते है?, RNA का फुल फॉर्म, RNA का कार्य और डी एन ए और आर एन ए में क्या अंतर है? इन सभी के बारे में अच्छी तरह से जान लिया है। दोस्तों आप से एक रिक्वेस्ट है अगर आप इससे सम्बंधित कुछ सुझाव देना चाहते है तो कमेन्ट कीजिये और अधिक से अधिक शेयर कीजिये।

NEET या दूसरे बोर्ड Exams के लिए कम्पलीट नोट्स बुक –

NEET Teachers के द्वारा एकदम सरल भाषा में लिखी गई नोट्स बुक 3 in 1, यानि कि एक ही किताब में जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान और भौतिक विज्ञान की कम्पलीट कोर्स। यदि आपको इसकी जरूरत है तो नीचे दिए गये बुक इमेज पर क्लिक कीजिये और इसके बारे में और भी जानिए।

धन्यवाद  

error: Content is protected !!